FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

हर किसी के अधूरे सफर को पूरा करने वाली फिल्म…ये जवानी है दीवानी

फिल्म ये जवानी है दीवानी की रिलीज को 7 बरस हो गए हैं लेकिन क्या है ऐसा इस फिल्म में जो वक्त की धूल इस पर पड़ने नहीं देता..फिल्म से जुड़े अपने जज्बात बता रहे हैं शशांक शेखर.

किरदार-ए-Money Heist: प्रोफेसर, जो बोर नहीं करता, अभिनय की जादुई किताब से आपका मन हर लेता है

Money Heist के किरदार प्रोफसर की खासियत अपने बेहतरीन विश्लेषण लेकर आए हैं शशांक शेखर. बुद्धिमान, फुर्तीला, चालाक, सज्जन, प्यारा, खतरनाक, शांत, कूल और भेष धरने में माहिर। ये सभी क्वालिटी जब आप किसी एक इंसान में पाएं तो उसे आप प्रोफेसर ही…

किरदार-ए-GoT ”Cersie Lannister” : एक क्रूर महिला, जिसने पुरुषवादी सत्ता समाज से उसका…

इस लेख की शुरुआत करते हुए मेरे जेहन में गेम ऑफ थ्रोन्स के आखिरी सीज़न का वही दृश्य बार-बार सामने आ रहा है। क्रूर, सत्ता के नशे में चूर Cersie Lannister का चेहरा, जो अपने अंत को सामने आता देखकर भी सिंहासन को छोड़ने को तैयार नहीं थी। उसे…

रियल लाइफ कपिल देव के साथ रील लाइफ कपिल लेंगे ट्रेनिंग!

रणवीर सिंह अभिनि फ़िल्म '83 की 15 मई को लंदन में 100 दिन के शेड्यूल के लिए शूटिंग शुरू करने से पहले, कबीर खान की क्रिकेट टीम अपने प्रशिक्षण के अंतिम चरण के लिए धर्मशाला में मौजूद है। यह कांगड़ा स्टेडियम में एक क्रिकेट बूट कैम्प

जिस्मानी रिश्तों के ज़माने में ‘लव इज़ ऑल अबॉउट केयर’ समझाने पर्दे पर आती है फिल्म ‘अक्टूबर’

अगर किसी के प्यार की गहराई समझनी हो तो आम तौर पर आप क्या करते हैं ? आपको अपने पार्टनर से प्यार तो है लेकिन कितना है इसका पैमाना सबका अलग-अलग, ज्यादा, कम हो सकता है।लेकिन वो एक बात क्या है जो अगर प्यार के साथ-साथ मिले तो प्यार और बढ़ता

Batman से विदा हुए बेन अफलेक, किरदार जिसकी हमेशा तुलना ही हुई

बैटमैन सीरीज से अब बेन अफलेक की विदाई का समय आ चुका है।अब फिल्म बैटमैन को एक युवा किरदार की जरूरत आन पड़ी है। डायरेक्टर मैट रीव्ज के बैटमैन बनने वाले बेन अफलेक ने इस सिनेमाई सुपरहीरो के किरदार को एक अलग ढंग से जिया, बिना इसकी परवाह किए

MODERN CLASSIC : हर किसी के मुकम्मल जहां पा लेने की ख्वाहिशों और उसके सफर की कहानी…

हर किसी के मुकम्मल जहां पा लेने की ख्वाहिशों और उसके सफर की कहानी 'तमाशा'दुनिया में करोड़ों लोग रहते हैं।उनकी हज़ारों ख्वाहिशें, कुछ पा लेने की ज़िद और अपनी औकात से ज्यादा पा लेने की जो ख्वाहिशें है ना बस यही कहानी है फिल्म तमाशा की..ये