FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच
Browsing Category

World Cinema

THE IRON LADY पर ये लेख बस एक कोशिश भर है ये बताने की, कि हमेशा पुरूषों के लिए पदवी बहाल करने वाले महौल और मशीनरी को महिलाओं की क्षमता का पारितोषिक देने से हिचकना नहीं चाहिए।
Read More...
इस लेख की शुरुआत करते हुए मेरे जेहन में गेम ऑफ थ्रोन्स के आखिरी सीज़न का वही दृश्य बार-बार सामने आ रहा है। क्रूर, सत्ता के नशे में चूर Cersie Lannister का चेहरा, जो अपने अंत को सामने आता देखकर भी सिंहासन को छोड़ने को तैयार नहीं थी। उसे सत्ता के नशे ने इस कदर जकड़ लिया था कि उसे अपना अंत भी धुंधला सा…
Read More...
ईरान के संवेदनशील फिल्मकार माजिद मजीदी की फिल्मों पर बात बगैर बरान (BARAN) के पूरी नहीं हो सकती...ये एक ऐसी फिल्म है जिसमें उस कोमल भावना की बात की गई है जिसकी वजह से इस दुनिया में जीने की वजह बची हुई है। 2001 में रिलीज माजिद मजीदी की इस फिल्म की खूबसूरती बयां कर रहें हैं लेखक और फिल्मकार विमल चंद्र…
Read More...
Avengers: Endgame  के साथ ही Marvel के cinematic universe के तीसरे फेज का अंत हो गया....और शुरू होगा MCU का चौथा फेज....जिसमें कुछ सीक्वल तो कुछ प्रीक्वल तो शायद कुछ नए कैरेक्टरों का इंट्रोडक्शन हो सकता है....तो चलिए आपको बताते है कि चौथे फेज में किन-किन फिल्मों की तैयारी है.... Spiderman- Far…
Read More...
'द कलर ऑफ पैराडाईज', 'बरान', 'द चिल्ड्रेन ऑफ हैवेन' और 'फादर' जैसी अर्थपूर्ण और संवेदनशील फिल्में होते हुए भी ईरान के नामचीन निर्देशक माजिद मजीदी की फिल्म 'द साँग ऑफ द स्पैरोज' (आवाज-ए-गोंजेश्क-हा) इस मायने में उनकी सबसे खूबसूरत फिल्म है कि यहाँ जो सपना है वो इतना नाजुक और पवित्र है कि उसे थोड़ी
Read More...
मुझे ये फिल्म देखते वक्त जिस बात का ख्याल सबसे पहले आया वो था कि क्या जैसे हॉलीवुड के फिल्मकार कई वर्षों से अश्वेतों पर हुए अत्याचार, उनके नागरिक अधिकारों पर संवेदनशील तरीके से महत्वपूर्ण फिल्में बना रहे हैं वैसे भारतीय फिल्मकार बंटवारे के बाद भारतीय मुसलमानों पर उसी संवेदनशीलता से फिल्में बना
Read More...