FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच
Browsing Category

Classic Tales

जाने माने कलाकार रवि बासवानी की आज पुण्यतिथी है. हम में से ज्यादातर लोग मरहूम रवि जी को अलग अलग वजहों से याद कर सकते हैं. जिसमें बड़ी संख्या उन लोगों की होगी जो उन्हें चश्मे बद्दूर, जाने भी दो यारों या दूरदर्शन के सीरीयल इधर उधर से याद कर सकते हैं..बहुत नया अगर याद करना चाहें तो बंटी बबली में वो…
Read More...
Basu दा यानि बासु चटर्जी हमारे बीच नहीं रहे..उनकी पॉपुलर फिल्मों की कहानी हर कोई कह रहा है लेकिन क्या आपको याद है सारा आकाश..जी हां बासु दा की पहली फिल्म..सारा आकाश को शब्दों के संसार में समेट कर लाई हैं हमारी होनहार लेखक प्राची उपाध्याय.
Read More...
29 मई को गीतकार Yogesh का निधन हुआ. बहुत से लोगों ने बहुत कुछ लिखा लेकिन खबरों की भीड़ में फिल्मसिटी वर्ल्ड ने गीतकार को अपनी श्रद्धांजलि थोड़ा इत्मिनान से देने की सोची. उनके गीतों की ही तरह रूह को पूरा करार मिलने के बाद हम उनकी जिंदगी को जितना खंगाल पाए हैं आप तक लेकर आए हैं..फिल्मसिटी वर्ल्ड के…
Read More...
आज मसाला फिल्मों में मील का पत्थर मानी जाने वाली फिल्म अमर अकबर एंथनी को रिलीज के 43 साल पूरे हो गए हैं. अभिनेता अमिताभ बच्चन ने अपने ज़माने की सुपरहिट फिल्म अमर अकबर एंथनी की 43 वीं सालगिरह पर उन दिनों ली हुई अपने बच्चों श्वेता और अभिषेक की तस्वीर को कुछ मजेदार फैक्ट्स के साथ सोशल मीडिया पर पोस्ट…
Read More...
Raj Kapoor की एक्टिंग में चार्ली चैपलिन का प्रभाव हमेशा से आलोचकों की बहस का मुद्दा रहा..हमारी होनहार लेखक प्राची बता रहीं हैं क्यों चैपलिन से परे भी शो मैन को देखे जाने की जरूरत है.
Read More...
राकेश रोशन की 'करण अर्जुन' ने शाहरुख खान और सलमान खान अभिनीत 25 साल पूरे कर लिए हैं। पहली बार स्क्रीन स्पेस साझा करने वाले दोनों सुपरस्टार्स की फिल्म, एक आइकॉनिक बन गई। अब, सलमान ने फिल्म के बारे में बात की है और इसे 'स्पेशल' कहां है। फिल्म के 25 साल के लंबे सफर के बारे में याद दिलाते हुए सलमान…
Read More...
जब एक महान साहित्यकार और एक बेहतरीन फिल्मकार साथ आते हैं। तो कुछ ऐसी कहानियां आपके सामने आती है...जो आपको आपकी अपनी हकीकत से रूबरू कराती है। ऐसी हकीकत जिसे हम रोज देखते हैं, झेलते हैं, कोसते है लेकिन उसके लिए कुछ करने की हिम्मत नहीं रखते। लेकिन मोहन जोशी ने रखी....मोहन जोशी ने दिखाई हिम्मत और…
Read More...
बड़ी बजट की फिल्मों के बीच छोटे बजट की फिल्मों का निर्माण हमेशा से एक मुश्किल भरा काम रहा है । चुनौती फिल्म बनाने तक भर होती तो फिर भी ठीक होता । लेकिन मामला रिलीज करना यानी उसे दिन का उजाला दिखाने तक जाता है। जोकि बड़े कशमकश की लड़ाई होती है। फिर भी जीत हौसले की होती है। नागेश कुकुनूर की फिल्म…
Read More...