FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

पहली फिल्म की छाया में बनी औसत फिल्म SOTY2

स्टूडेंट ऑफ द ईयर (SOTY2) पुरानी बोतल में नई शराब जैसी है लेकिन इसका नशा देर तक रहेगा इसकी गारंटी नहीं..फर्स्ट डे फर्स्ट शो देखने के बाद क्या है हमारे रिपोर्टर शौनक जैन की राय..पढ़िए.

0 210

स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2 पुनीत मल्होत्रा ने डायरेक्ट की है, टाइगर श्रॉफ, अनन्या पांडेय और तारा सुतारिया लीड रोल्स में है। आदित्य सील फ़िल्म के विलेन है। फ़िल्म टाइगर श्रॉफ के किरदार, रोहन, की कहानी बताती है। रोहन को, अपना मक़सद पूरा करने, सेंट टेरेसा में जाना होता है जो एक अमीर लोगों का कॉलेज होता है और मेहनत करके स्कालरशिप पाकर वो वहां दाखिल भी हो जाता है.. रोहन की गर्लफ्रेंड मृदुला उर्फ मिया यानि तारा सुतारिया भी इसी कॉलेज में पढ़ती है और श्रेया यानि अनन्या पाण्डेय रोहन को बहुत तंग करती है क्योंकि उसे लगता है कि रोहन का क्लास कॉलेज के लायक नहीं.. फिर आगे क्या होता है वो फ़िल्म में बताया गया है।

फ़िल्म की कहानी काफी फ्लैट और आसानी से अंदाजा लगाने लायक है। पहली फ़िल्म से मिलती जुलती ही कहानी है और कुछ अलग या नया नहीं है..कह सकते हैं कि पुरानी कहानी को एक नए डब्बे में डालकर दिखाने की कोशिश की गई है। डायलॉग्स ठीक हैं, इनमे कुछ पंच नही है। फ़िल्म का डायरेक्शन और स्क्रीनप्ले भी ठंडा है और जबकि पैकेजिंग बढ़िया है..परदे पर देखने में पिक्चर फ्रेश लगती है लेकिन कंटेंट में उतनी ही एवरेज है.. अनरियलिस्टिक होने की वजह से ऑडिएंस से ज़्यादा कनेक्ट नही हो पाती।

फिल्म की जान हैं टाइगर की एक्टिंग…उनकी मेहनत स्क्रीन पर दिखाई दे रही है। स्टंट्स और डांस में तो वो सबसे आगे हैं ही। तारा फ़िल्म में कुछ ज़्यादा अपनी छाप नहीं छोड़ पाती है।उनका काम ठीकठाक है.. अनन्या एक सरप्राइज पैकेज हैं, उनकी एक्टिंग उम्मीद से अच्छी रही है। लेकिन फ़िल्म के फ्लैट स्क्रिप्ट और खराब डायरेक्शन से सब कुछ एवरेज लगता है।


इसमे पहली फिल्म का फील भी लाने की कोशिश की गयी है। लोकेशन बड़ी खूबसूरत है। फ़िल्म के गाने भी ओके है। इनमे भी कोई खास बात नही हैं। स्टूडेंट की ट्रॉफी कौन जीतेगा ये तो हमे पता है। कबड्डी को बहुत महत्व दिया गया है जो एक अच्छी बात है मगर जिस तरह से वो खेल दिखाया गया है वो रोमांच पैदा नहीं करता..

अगर किसी के पास बहुत टाइम और पैसे हो तो वो देख सकता है ये फिल्म। इससे आपका अच्छा टाइम पास और वेस्ट दोनों हो जाएगा। फ़िल्म बहुत ही बोरिंग और लंबी लगती है । टाइगर के फैंस को फ़िल्म पक्का बहुत पसंद आएगी और उनके लिए ये एक सामान्य टाइगर श्रॉफ फ़िल्म होगी जिसमे कोई नई चीज़ नही है। फिल्म का 5 में से 2 स्टार्स..

Leave A Reply

Your email address will not be published.