FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

Paatal Lok Review : भारत की सबसे बेस्ट क्राइम थ्रिलर वेब सीरीज है ‘पाताल लोक’

अनुष्का शर्मा ने Paatal Lok के जरिए भारतीय वेब सीरीज की दुनिया में क्रांति लाई है. उनकी ये सीरीज वाकई बताती है कि कैसा होना चाहिए हमारा वेब शोज का कंटेंट. पढ़िए पूरा रिव्यू

0 214

पाताल लोक ( Paatal Lok ) 9 एपिसोड की सीरीज है. तहलका मैगजीन के पूर्व संपादक  तरुण तेजपाल की फेमस किताब स्टोरी ऑफ माय असासिन पर ये सीरीज बनाई गई है. तरुण तेजपाल पर फिलहाल यौन शोषण का मामला चल रहा है और वो फिलहाल बेल पर हैं.  पाताल लोक पहले ही सीन से आपको एक माहौल में जकड़ लेती है.और जब कोई सीरीज पहले कुछ सीन में आपको बांध ले तो कहानी और ऐक्टर्स के काम को ज्यादा क्रेडिट देनी चाहिए. ये आपको हिलकर रख देगी, डराएगी और ऐसी दुनिया दिखाएगी जहां सिस्टम मीडिया और क्राइम का गठजोड़ है. कह सकते हैं ये इंडियन वेब सीरीज की दुनिया में आई बेस्ट क्राइम थ्रिलर है.

कहानी खुलती है  4 लोगों की बड़ी नाटकीय गिरफ्तारी से. इन्हें हत्या की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.इन पर आरोप है एक बड़े न्यूज चैनल के एडिटर संजीव मेहरा की हत्या के इरादे का.इस केस को हाथीराम नाम के ऐसे पुलिसवाले को दिया जाता है जिसकी जिसके पुलिस करियर में नाकामी और निराशा ज्यादा है. उसे ये अब एहसास है कि ये हाइप्रोफाइल केस उसकी जिंदगी बदलकर रख सकता है.लेकिन वो कहते हैं ना आप कितनी भी प्लानिंग कर लो जिंदगी आपके हिसाब से नहीं चलती और पाताल लोक में भी यही होता है जो दर्शकों को रोमांचक यात्रा पर ले जाता है.


एन एच 10 और उड़ता पंजाब लिखने वाले सुदीप शर्मा ने ये लिखी है और उन्होने 3 और राइटर्स के साथ मिलकर इसे लिखा है.इस सीरीज के डायरेक्टर्स हैं अवॉर्ड विनिंग मराठी फिल्म किल्ला बनाने वाले अविनाश अरुण और परी डायरेक्ट करने वाले प्रोसित रॉय. सोचिए जब इतना जबरदस्त टैलेंट एक साथ एक प्रोजेक्ट पर काम करें तो स्क्रीन पर धमाका तो होना ही है और हुआ भी ऐसा ही.
सबसे खास बात इस सीरीज कि ये है कि विदेशी सीरीज की ही तरह यहां हर एपिसोड को ऐसा डिजाइन किया गया है कि आप अगले एपिसोड को देखने के लिए बेचैन हो जाते हैं.
फिल्म की कहानी दिल्ली से चित्रकूट और फिर पंजाब तक सफर करती है और जैसा मैने पहले कहा इसका मूड और माहौल कमाल करते हैं. इन इलाकों की भाषा और लहजा सीरीज को और इंट्रेस्टिंग बनाते हैं.

एक्टिंग की बात करें तो सबसे जबरदस्त काम किया है जयदीप अहलावत ने, गैंग्स ऑफ वासेपुर के बाद से उनके टैलैंट का सही इस्तेमाल अब जाकर हुआ है..ये किरदार इतने शेड्स लिए हुए है कि इसे निभाना आसान नहीं . बस यही कहूंगा कि जयदीप मजा आ गया दोस्त..आप हमेशा से मेरे पसंदीदा एक्टर रहें हैं लेकिन अब तो भूख ज्यादा बढ़ा दी है. अभिषेक बनर्जी तो हथौड़ा त्यागी के रोल में आपको उनके डरावने सपने न आएं तो नाम बदल देना. जबरदस्त किरदार और उतना ही घुसकर उसे निभाया है अभिषेक ने. नीरज कबी ने एक मीडिया जाएंट की भूमिका बखूबी निभाई है और उनके किरदार की डिटेलिंग बहुत ही शानदार है. बाकी किरदार भी आप पर प्रभाव छोड़ते हैं. खासकर छोटे स्क्रीन टाइम में भी हाथीराम की पत्नी के किरदार में गुल पनाग और संजीव मेहरा की वाइफ बनीं स्वास्तिका मुखर्जी असर करते हैं.

पाताल लोक लंबे समय तक आपके जहन में ताजा रहेगी. जरूर देखिए. सीरीज को 5 में से 4 स्टार्स. ऐसी कहानियां इंडियन वेब सीरीज में कंटेंट की ताकत को और मजबूत करेंगी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.