FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

निर्देशक नितेश तिवारी ने ‘Chhichhore’ और अपने आईआईटी दिनों से जुड़ी अंतदृष्टि की साझा!

0 72

नितेश तिवारी की आगामी फिल्म ‘Chhichhore’, इंजीनियरिंग कॉलेज में पनपती दोस्ती पर आधारित कहानी के बारे में है और ऐसे में निर्देशक ने भारत के प्रमुख इंस्टिट्यूशन के परिसर में बिताए गए अपने दिनों से जुड़ी यादें साझा की है।वर्ष के खिलाड़ी के रूप में खिताब जीतने वाले और स्क्रॉल ऑफ ऑनर से ग्रेजुएट होने वाले, ’96 में 17 साल बाद पहली बार, नितेश तिवारी ने शेयर किया,”मैं अपने हॉस्टल की क्रिकेट टीम का कप्तान था और फुटबॉल, वॉलीबॉल, हॉकी भी खेलता था और 4×100 मीटर रिले में भी दौड़ लगाता था। मैं बास्केटबॉल टीम में भी एक अतिरिक्त था।”साजिद नाडियाडवाला की फ़िल्म ‘Chhichhore’ कॉलेज में दोस्तों के एक ग्रुप के इर्दगिर्द घूमती हुई नज़र आएगी जो कॉलेज के बाद अलग हो जाते हैं, लेकिन एक अस्पताल में वर्षों बाद उनका रीयूनियन होता हैं जब उनके ग्रुप से एक दोस्त दुर्घटना का शिकार हो जाता है।
वही, अपने कॉलेज लाइफनिर्देशक नितेश तिवारी ने “छिछोरे” और अपने आईआईटी दिनों से जुड़ी अंतदृष्टि की साझा!
नितेश तिवारी की आगामी फिल्म ‘Chhichhore’, इंजीनियरिंग कॉलेज में पनपती दोस्ती पर आधारित कहानी के बारे में है और ऐसे में निर्देशक ने भारत के प्रमुख इंस्टिट्यूशन के परिसर में बिताए गए अपने दिनों से जुड़ी यादें साझा की है।
वर्ष के खिलाड़ी के रूप में खिताब जीतने वाले और स्क्रॉल ऑफ ऑनर से ग्रेजुएट होने वाले, ’96 में 17 साल बाद पहली बार, नितेश तिवारी ने शेयर किया,”मैं अपने हॉस्टल की क्रिकेट टीम का कप्तान था और फुटबॉल, वॉलीबॉल, हॉकी भी खेलता था और 4×100 मीटर रिले में भी दौड़ लगाता था। मैं बास्केटबॉल टीम में भी एक अतिरिक्त था।”
साजिद नाडियाडवाला की फ़िल्म “छीछोरे” कॉलेज में दोस्तों के एक ग्रुप के इर्दगिर्द घूमती हुई नज़र आएगी जो कॉलेज के बाद अलग हो जाते हैं, लेकिन एक अस्पताल में वर्षों बाद उनका रीयूनियन होता हैं जब उनके ग्रुप से एक दोस्त दुर्घटना का शिकार हो जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.