FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

लंदन में 83 की शूटिंग से पहले, रियल लाइफ में पीआर मान सिंह से मिले ‘Pankaj Tripathi’

इसमें पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi), पीआर मान सिंह का बेहद अहम किरदार निभा रहे हैं, जिन्होंने वर्ल्ड कप में एक मैनेजर के तौर पर टीम इंडिया की अगुवाई की थी।

0 519

नेशनल अवॉर्ड जीतने वाले एक्टर Pankaj Tripathi, बॉलीवुड के कुछ सबसे बड़े नामों के साथ जुड़े होने की वजह से इन दिनों सातवें आसमान पर हैं। फिलहाल वह अपनी अगली फिल्म 83 की शूटिंग के लिए तैयार हैं, जो एक मैग्नम ओपस फिल्म है और इसमें रणवीर सिंह लीड रोल में हैं। यह फिल्म एक रियल लाइफ स्टोरी है, जो 1983 में इंडियन टीम के कैप्टन कपिल देव की अगुवाई में क्रिकेट वर्ल्ड कप की ऐतिहासिक जीत पर आधारित है। इस फिल्म के स्टार कास्ट में बड़े-बड़े नाम शामिल हैं तथा इसमें पंकज त्रिपाठी, पीआर मान सिंह का बेहद अहम किरदार निभा रहे हैं, जिन्होंने वर्ल्ड कप में एक मैनेजर के तौर पर टीम इंडिया की अगुवाई की थी। पंकज लंदन इस तरह के अहम किरदार को निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते थे, इसलिए वह 83 शूटिंग से पहले रियल मैनेजर पीआर मान सिंह से मिलने के लिए हैदराबाद पहुंचे।

पीआर मान सिंह 1983 के वर्ल्ड कप में कपिल देव के स्क्वॉड के एक बेहद स्ट्रांग पिलर रहे हैं। पंकज उनसे ही रियल स्टोरी सुनना चाहते थे। रील और रियल मैनेजर, दोनों ने 83 के वर्ल्ड कप के ट्रिविया, फैक्चुअल स्टोरीज़, वर्ल्ड कप के दौरान टीम के स्ट्रगल पर बातचीत की तथा श्री सिंह ने पहले क्रिकेट वर्ल्ड कप के जीत के सफ़र को बयां किया और इसे सुनकर पंकज की आंखों में आँसू आ गए। उनके साथ हुई बातचीत और एक्सपीरियंस ने पंकज को इस कैरेक्टर को तैयार करने में मदद की, जो पंकज की ओर से पीआर मान सिंह के लिए सम्मान की बात होगी।

 

पंकज ने कहा, “पीआर मान सिंह से मुलाकात का एक्सपीरियंस बेहद अमेजिंग था। क्रिकेट के खेल के लिए उनका प्यार और जोश आज भी बरक़रार है। वह डिसिप्लिन में रहने वाले व्यक्ति हैं। उन्होंने हैदराबाद के अपने घर में एक बड़ा म्यूजियम बनाया है, जिसमें क्रिकेट की यादगार निशानियां मौजूद हैं। उनकी स्टोरी और लाइफ जर्नी को सुनते हुए मैं एक-दो बार इमोशनल हो गया था। उनका जीवन दूसरों के लिए बेहद इंस्पायरिंग है, साथ ही क्रिकेट के प्रति उनका पैशन और लव बिल्कुल अमेज़िंग है। मैं उनके फैमिली मेंबर्स से भी मिला और वे सभी पीआर मान सिंह के हर डिसीजन के साथ एक पिलर की तरह खड़े रहे। एक एक्टर के तौर पर, मैं अपनी पूरी एबिलिटी और ईमानदारी के साथ पीआर मान सिंह को पोर्ट्रे करने, उनके स्कूल ऑफ थॉट्स को डिस्प्ले करने तथा क्रिकेट के खेल के प्रति उनकी आईडियोलॉजी एवं फेथ को पर्दे पर दिखाते हुए इस रोल को जस्टिफाई करने की कोशिश कर रहा हूँ।”

Leave A Reply

Your email address will not be published.