FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

BHARAT मूवी रिव्यू : रिश्तों और उसूलों की एहमियत समझाती फिल्म

सलमान खान की फिल्म भारत( BHARAT ) ईद के मौके पर रिलीज़ हुई एक ऐसी फिल्म है जो बंटवारे के दौर से लेकर साल 2010 तक के एक जज्बाती सफर पर आपको ले जाती है..कोरियन ड्रामा फिल्म ऑड टू माय फादर पर बनी ये फिल्म कैसी है बता रहें हैं हमारे संवाददाता शौनक जैन।

0 225

सलमान खान और कटरीना कैफ की जोड़ी ने फिर हमें एक और ईद ब्लॉकबस्टर दी है। भारत (BHARAT) फ़िल्म सलमान के किरदार भारत के ज़िन्दगी के सफर और उसकापने पिताजी यानि जैकी श्रॉफ को किये गए वादे को पूरा करने के दौरान होने वाले संघर्ष के साथ साथ अपने देश और परिवार के प्रति प्रेम को दर्शाती है। भारत की कहानी हमारे देश की कहानी है जो एक आम आदमी के नज़रिए से बताई है। ये एक भव्य फ़िल्म है जिसे अली अब्बास ज़फर ने काफी मनोरंजक तरीके से पेश किया है.

कहानी है भारत यानि सलमान खान के तीन दौर की..एक दौर बंटवारे के वक्त का जब वो छोटा है और पिता से दूर हो जाता है..दूसरा दौर है सर्कस में करतब करने वाले इंसान का जहां उसकी जिंदगी में है राधा यानि दिशा पाटनी मगर पिता का वादा उसे राधा से दूर जाने को मजबूर करता है..तीसरा दौर है अरब में तेल के कुंएं में काम करने वाले व्यक्ति का जहां उसका साथी है विलायती यानि सुनील ग्रोवर और जहां उसे मिलती हैं मैडम सर यानि कटरीना कैफ…यहां से क्या होता है..क्या है वादा भारत के पिता का..मैडम सर के साथ उसकी जिंदगी कहां तक जाती है बस इन्ही सबके बारे में है फिल्म भारत जो क्लाईमैक्स में आकर आपको बहुत भावुक कर देती है..आपकी आंखे नम हो जाती है.. कहानी लंबी है मगर गानो के अलावा कहीं बहुत बोरिंग नही लगती है। फ़िल्म का दूसरा हाफ फ़िल्म की जान है और पहला हाफ फ़िल्म का आधार दोनो ही बड़े मज़ेदार हैं जहां सलमान कटरीना और सुनील के बहुत मजेदार सीन हैं। भावनाओ को बड़ी खूबसूरती से दिखाया गया है फ़िल्म में और डायरेक्शन और स्क्रीनप्ले बहुत अच्छा है।

सलमान की एक्टिंग की बात करे तो भाईजान ने काफी ईमानदार पर्फोर्मेंसस दी है। ये उनकी अच्छी फिल्मो में से एक है। कटरीना ने अपने किरदार में जान लगा दी है वो बहुत मेच्योर, शानदार और कमाल की खूबसूरत लगीं हैं जीरो के बाद ये एक और किरदार है जो उन्होंने बखूबी निभाया है। वो एक स्ट्रांग और इंडिपेंडेंट महिला का किरदार निभाती है और फिल्म में उभर कर आती है। सुनील ग्रोवर फ़िल्म में सलमान के बचपन के मित्र का किरदार निभाते है और वो दिल को छू जाते है। उनकी और सलमान की दोस्ती और जोड़ी दर्शको का दिल जीत लेगी। फ़िल्म में हर किसी का रोल कहानी के हिसाब से सही है डायलाग की बात करे तो वो ताक़तवर और छाप छोड़ने वाले है।उनकी डिलीवरी भी बड़े अच्छे ढंग से की गयी है। फ़िल्म के गाने अच्छे हैं लेकिन वो फिल्म की रफ्तार को धीमा करते हैं.

 फ़िल्म लंबी ज़रूर लगती है मगर देखने लायक है। इसमे चाहे आप सलमान के प्रशंसक हो या हो, आपके लिए कुछ कुछ हैं। ये एक कम्पलीट एंटरटेनमेंट पैकेज है जो हमे इस ईद मिली है।

 फिल्म को 3/5 स्टार्स देना चाहूंगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.