FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

INTERVIEW SUNIL GROVER : ‘मैं अपने स्कूल टाइम से फेमस था’

गुत्थी बन हम सबको हंसाने वाले सुनील ग्रोवर फिल्म भारत में सभी को प्रभावित कर रहे हैं…Sunil Grover से उनके करियर फिल्मों शोज पर खास बातचीत की हमारे संवाददाता शौनक जैन ने ।

0 640

रिपोर्टर -पहले तो आप हमें अपने भारत फिल्म के अनुभव के बारे में बताएं ? कैसा रहा पूरा सफर? पहले आफर मिलना फिर सलमान और कटरीना के साथ काम करना, कैसा रहा ये सब आपके लिए?
सुनील-  मैं खुद को बहुत खुशकिस्मत समझता हूँ कि मुझे ये फ़िल्म करने का मौका मिला और इतने बड़े फ़िल्म का हिस्सा बनने का सौभाग्य मिला। सिर्फ फ़िल्म के स्टारकास्ट को देखते हुए नहीं बल्कि जिस तरीके से इसे बताया गया है वो कहानी, ये एक बहुत बड़ी फ़िल्म है।एंटरटेनमेंट, ड्रामा और डांस और बाकी सब जो आप एक सलमान खान फ़िल्म में देखते हैं वो सब तो है ..इसके साथ साथ कुछ ऐसी फ्रेश चीज़े भी हैं जो आपको देखने को मिलेगीं। जो पूरा सफर है फ़िल्म का पार्टीशन से लेकर आज तक,  एक बहुत बड़ी बात है और मैं सचमुच बहुत खुशकिस्मत हूँ कि मुझे इसका हिस्सा होने का मौका मिला।

रिपोर्टर -हम जब बाकी टेलीविजन के अभिनेताओं से मिलते हैं और बातचीत करते हैं तो वो बताते हैं कि उनके लिए दोनो मैनेज करना कितना मुश्किल होता है मगर आपके साथ ऐसा कुछ नहीं है, आप इधर एक बड़े फ़िल्म का हिस्सा होंगे और वहीं दूसरी तरफ एक शो का भी। तो आप ये कैसे करते हैं?
सुनील – सच कहूं तो चीज़ें हो जातीं हैं मेरे साथ। मैं कुछ सोच कर और प्लान करके नहीं चलता, जैसे एक फ़िल्म रोल आया मेरे पास और मैने वो कर दिया और मैं टीवी पर 10 चीज़ेे नही करता, मैं एक बार में सिर्फ एक प्रोजेक्ट लेता हूँ और उसपर ध्यान देता हूँ और फिर एक ब्रेक लेता हूँ। मगर जो मैं करता हूँ पूरे जुनून के साथ करता हूँ जहां मुझे लगे कि मैं पूरी मेहनत करूं और मुझे मजा आये तो मैं बस ऐसे काम करना पसंद करता हूँ।मैं  समझता हूं खुद ही नहीं बल्कि ऐसे कई सारे लोग हैं जो ऐसा करते आ रहे हैं या कर रहें हैं.. सलमान सर करते हैं टेलीविजन और फिल्में, शाहरुख सर ने किया है और आमिर खान ने भी टीवी पर काम किया है और  फिल्में तो कीं हीं हैं। तो ऐसे बहुत से अभिनेता हैं जो दोनो करते हैं और दोनो में सक्सेसफुल होते हैं।

रिपोर्टर -अगर हम आपकी फिल्मों को देखें तो आपने हमेशा से ही अलग किरदार चुने हैं, वैसे हंसमुख और कॉमेडी रोल्स नहीं जिनके साथ आपको टीवी पर जोड़ा जाता है?
सुनील – हाँ, मुंझे ऐसा करने में अच्छा लगता है क्योंकि अगर मैं टीवी पर हंसमुख और मजाकिया किरदार कर रहा हूँ तो फिर मुझे लगता है कि बड़े पर्दे पर वही करने का कोई फायदा नहीं। तो कहीं न कहीं मुझे ऐसी  फिल्में करनी हैं जो मैं टीवी पर नही करता हूँ। अब ये सही है या गलत वो मुझे नही पता पर मुझे पसंद है ।

रिपोर्टर -आपके काम की तो बहुत तारीफ हुई है मगर आपको नहीं लगता कि आपके फैंस कहीं न कहीं दुखी हुए होंगे क्योंकि वो एक सुनील ग्रोवर की कॉमेडी देखने आये थे?
सुनील-  ये एक सलमान खान फ़िल्म है।इसमे सबसे बड़ा हिस्सा सलमान का है और मैं तो बस अचार या पापड़ हूँ। तो अगर पापड़ पसंद है तो आइए और अगर नही भी तो कुछ फर्क नही पड़ता क्योंकि आप फिर भी खुश ही होकर जाएंगे।

रिपोर्टर -तो क्या आपको और भी अलग अलग किस्म की फिल्मो में काम करने की इच्छा है?
सुनील –  हाँ, ज़रूर ज़रूर मुझे करना है।अगर मुझे कुछ ऑफर आता है और मुझे लगता ही कि मैं ये कर सकता हूँ कहानी और किरदार अच्छे हुए तो पक्का करूँगा। ये भी ऐसी ही कहानी है जो मेरे पास आयी। ये एक मेकर का निर्णय है। अगर सब मैच करता है तो ज़रूर।

रिपोर्टर – भारत फिल्म में आपके किरदार के बारे में हमे कुछ बताएं ?
सुनील- मैं भारत के जिगरी दोस्त का किरदार निभा रहा हूँ।मेरा किरदार जिसका नाम विलायती है वो उन्हें भारत और पाकिस्तान के पार्टीशन के बाद मिलता है और तब से 2010 तक उनके साथ ही रहता है। बस जब वो कटरीना के साथ रोमांस कर रहे होते हैं तो मैं अलग होता हूँ।

रिपोर्टर -तो आपने पहले कहा है कि आपको शुरू में सलमान खान थोड़े डरावने लगे मगर ट्रेलर और बाकी सब प्रोमोज को देख कर आपमें और उनमे अच्छी एक दोस्ती दिख रही है, तो बताएं कैसे हुआ ये सब। 
सुनील – वो एक ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें मज़े करना अच्छा लगता है और मैं उन्हें बहुत आदर देता हूँ।  सिर्फ इसीलिए नही क्योंकि वो इतने बड़े स्टार है पर इसलिए भी क्योंकि वो इतनी सारे चीज़ों से डील करते हैं हर दिन। वो हर दिन वर्कआउट करते है, हर दिन उन्हें पेंट करना होता ही है और हर दिन एक या दो फिल्में वो देखते ही हैं। वो स्क्रिप्ट्स और आइडियास भी सुनते हैं हर दिन और इस सब के साथ साथ काम भी करते हैं। कभी थकते नही। एक बार उनकी रिब की हड्डी टूट गई थी और डॉक्टर ने उन्हें 20 दिन आराम करने कहा लेकिन 3 दिन बाद ही वो जिम में थे। तो इतना साहस और डिटरमिनेशन अपने काम के लिए कम दिखता है।।

रिपोर्टर – -ऐसा पहले कब हुआ कि आपको लोगों ने नोटिस करना शुरु किया ?
सुनील – देखिये पहले मुझे रेडियो ने पहचान दी,  तभी लोगो को पता नही था लेकिन मेरे काम की तारीफ हुई थी। तभी वो मेरा फैसला था कि मैं सामने नही आउं और 3 साल के क़रीब वही करूं। फिर मैने टीवी शो में शाहरुख की नकल की तब मुझे लोगों ने देखा। वैसे मैं हमेशा से ही लोकप्रिय रहा हूँ । मैं स्कूल में फेमस था, कॉलेज में था, यूनिवर्सिटी में भी था। यूनिवर्सिटी में मेरे फैंस थे। तो फेमस रहना कोई नई बात नहीं थी बस जो सर्किल है लोगो का वो बढ़ा है।  तो वो स्पूफ शोज के साथ और बड़ा हुआ। ऐसा भी समय था जब मैं सिर्फ अपनी बिल्डिंग में फेमस था जब मैं बॉम्बे नया नया आया था। वो भी क्योंकि गणेश चतुर्थी पर मैने वहां परफॉर्म किया था। सबसे बड़े मास लेवल पर गुत्थी का जो किरदार है उसने मुझे सबसे ज़्यादा लोकप्रिय किया वो एकदम जादूई सा था। मै एक शो कर रहा था जो दिल्ली में था और मैं गया, कुछ तीन-साढे तीन हज़ार लोग थे, मैं गुत्थी बन कर गया और जैसे ही मैने स्टेज पर एंट्री की सभी चिल्लाने लगे और फ़ोटो खींच रहे थे और मुझे लगा कोई और तो नही मेरे पीछे! तो वो पल था जब मुझे समझ आया कि कुछ तो हुआ है और मैने एक पल लेकर उस पल के लिए शुक्रिया अदा भी किया।

रिपोर्टर -हमे ऐसे किस्से सुनते हैं जहां मेल एक्टर्स ने लड़की जैसे कपड़े पहने है और फिर उनके साथ बत्तमीजी हुई है, तो क्या आपके साथ कुछ ऐसा कभी हुआ?
सुनील – एक बार एक वाशरूम में हुआ था ऐसा। बहुत सीरियस नही क्योंकि मैं इसमे भी लकी रहा  लेकिन हुआ यूं कि मैं गुत्थी के कपड़े पहनकर जेंट्स वाशरूम में गया और एक आदमी जो वहां था वो डर गया कि क्या वो गलत बाथरूम में आ गया और बाद में गलतफहमी दूर हुई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.