FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

मैं सबसे खुश तब होती हूँ जब मैं सेट पर होती हूँ – जान्हवी कपूर

0 248

जान्हवी कपूर जिन्होंने ‘धड़क ’से अपनी शुरुआत की, अपनी परफॉर्मेंस से दर्शकों को जीतने में कामयाब रही। इतना ही नहीं, युवा अभिनेत्री को सोशल मीडिया पर भी बड़ी संख्या में फॉलो किया जाता है। जान्हवी, जिनके हाथों में ढेर सारी फिल्में हैं, मानती हैं कि जब वह सेट पर होती हैं तो वह सबसे अधिक खुश होती हैं।

जब उनसे पूछा गया कि क्या यह वही जीवन (पोस्ट धड़क) है जिसका वह हमेशासे सपना देखती थी, तो जान्हवी ने कहा, “मैंने कैमरे के सामने रहने का सपना देखा था। जब भी मैं सेट पर होती हूं, यह मेरी कल्पना से अधिक कुछ भी नहीं हो सकता है। यह तब है जब मैं खूद को सबसे ज्यादा जीवित और सतर्क महसूस करती हूं। जब मैं सेट पर होती हूं तो सबसे ज्यादा खुश रहती हूं। जब आप अपने निर्देशक और सह-अभिनेता के साथ एक दृश्य पर काम कर रहे होते हैं और आप ईमानदारी का एक पल पाते हैं, तो यह बहुत ही रोमांचक होता है। दुनिया की कोई भी चीज इससे कंपेयर नहीं की जा सकती। ”

एक अंतरराष्ट्रीय पोर्टल से बात करते हुए, उन्होंने कहा, “मेरे पास ऐसे दिन होते हैं जब मैंने शूटिंग के 3-4 दिनों की अवधि में केवल एक या दो घंटे की नींद ली है, लेकिन मैं फिर भी ग्लो कर रही होती हूं और अंदर से एनर्जेटिक फील कर रही होती हूँ, और फिर, ऐसे दिन होते हैं, जब मुझे लगभग 10 घंटे की नींद आती है, लेकिन मैं थका हुआ और लो महसूस कर रही हूं। ”

जान्हवी अपनी अगली रिलीज़ गुंजन सक्सेना: द कारगिल गर्ल के लिए तैयार है। अभिनेत्री के पास रिलीज़ के लिए अन्य फ़िल्में भी हैं, जिनमें रूही अफज़ाना, दोस्ताना 2 और तख्त शामिल हैं।

स्रोत – https://youtu.be/hZ_PgbX1tMg

Leave A Reply

Your email address will not be published.