FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

INTERVIEW VICKY KAUSHAL : URI की शूटिंग के वक़्त रोंगटे खड़े हो जाते थे

0 150

मौजूदा जेनरेशन के कलाकारों में विक्की कौशल की एक अलग ही जगह है….मसान जैसी फिल्म से बॉलीवुड में डेब्यू करनेवाले विक्की इस वक्त से सबसे बेहतरीन एक्टरों में गिने जाते है…2018 में संजू, राजी और मनमर्जियां जैसी शानदार फिल्मों के बाद विक्की ने 2019 की शुरूआत URI:The Surgical Strike जैसी धमाकेदार फिल्म से की है…विकी कौशल की फ़िल्मसिटी वर्ल्ड से हुई खास बातचीत का ब्यौरा पेश कर रहीं हैं प्राची उपाध्याय

REPORTER- विक्की इस वक्त आप इंडस्ट्री के सबसे फेवरेट एक्टरों में से एक है, जिनके साथ हर डायरेक्टर काम करना चाहता है…तो इस बारे में आप क्या कहना चाहेंगे ?
VICKY- ये आपकी बेहद अच्छी बात है….लेकिन मैं सबसे ज्यादा वॉन्टेड एक्टर नहीं हूं….अभी शुरूआत है…उम्मीद है आगे भी अच्छा साल जाए…पिछला साल अभी बेहतरीन गया है और मैं भगवान और उन सभी लोगों का शुक्रगुजार हूं जिन्होने मुझे ये opportunity दी…मैं ऑडियंस का भी शुक्रगुजार हूं जिन्होने मेरे काम को पसंद किया…
REPORTER- आपकी versatility के पीछे का राज क्या है…किसी फिल्म में हीरो, किसी फिल्म में सपोर्टिंग एक्टर, किसी फिल्म में ग्रे शेड रोल….
VICKY- देखिए सर मुझे बहुत ही वर्सेटाइल डायरेक्टरों के साथ काम करने का मौका मिला है….और एक एक्टर के तौर पर हर किसी का ये मकसद होता है कि वो अलग-अलग तरह के किरदार निभाएं…और जब डायरेक्टर अच्छे होते है तो थोड़ी मेहनत आप करते है थोड़ी वो आपसे करवा लेते हैं…तो उससे हो जाता है…
REPORTER- URI के साथ आपका एक्सपीरियंस कैसा रहा….वो एक फिजिकली चैलेंजिग रोल था…
VICKY- ये मेरा अबतक का सबसे exhausting experience ऱहा है…सबसे पहले तो तैयारियों के लिए 6-7 महीने देना, मैंने अबतक ऐसा किसी फिल्म के लिए नहीं किया है…और फिर ढाई महीने की लगातार शूटिंग जिसमें करीब 30-35 दिन केवल एक्शन शूटिंग रही…जो कि बहुत ही ज्यादा थकानेवाला था…लेकिन अगर आप उसका retrospection करें तो आप सोचोगे कि फिर ऐसा किरदार फिर कब करने को मिलेगा…औऱ ये ही इमोशन था जो आपको स्ट्रेंथ देता रहा…और अब फिल्म रिलीज हो रही…तो थोड़ा तो लगता है कि पता नहीं फिल्म चलेगी या नहीं….लेकिन फॉर दी मेटर ऑफ फैक्ट कि इससे ज्यादा हम में था ही नहीं इस फिल्म के जरिए ऑडियंस को देने के लिए…
REPORTER- इससे पहले आप URI attacks को लेकर कितने वाकिफ थे और फिल्म मेकिंग के दौरान और कितनी जानकारी मिली ?…
VICKY- मैंने तो ये टर्म ही पहली बार सुना था Surgical Strike….War सुनी थी बहुत बार लेकिन Surgical Strike जब प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया गया तो पहली बार सुना…और तब मुझे लगा कि ये क्या था कैसे किया गया…फिर पेपर में पढ़ने का और टीवी पर सुनने का मौका मिला तो पता चला, लेकिन फिर भी जेहन में था कि ये सर्जिकल स्ट्राइक कैसे होती है उसकी डिटेल्स क्या होती है…और फिर जब URI की स्क्रिप्ट आई तो मेरे अंदर का एक्टर पीछे हो गया और as a citizen मैं ज्यादा ईगर था जानने के लिए क्या हुआ था…और फिर स्क्रिप्ट के जरिए एक-एक दिन की तैयारी समझ आई…फिल्म में भी आप देखेंगे कि ये स्ट्राइक सिर्फ 10 दिन की प्लानिंग थी और हर दिन कितनी तैयारी की गई…क्योंकि अगर आप आर्मी के पॉइंट ऑफ व्यू से देखेंगे तो एक तरफ पूरा देश आप पर सवाल खड़े कर रहा है कि आप कुछ कर रह हैं या नहीं….तो उस प्रेशर में भी अपनी स्थिरता नहीं खोते हुए एक इतना कोवर्ट और एफिशिएंट ऑपरेशन प्लान करना और उस एक्जिक्यूट करना, मेरे हिसाब से इस देश के हर नागरिक को ये कहानी डिटेल में देखनी बहुत जरूरी है….
REPORTER- शूटिंग के दौरान ऐसा कोई मोमेंट रहा जहां आपके रोंगटे खड़े हो गए हों ?
VICKY- मेरे तो कई बार खड़े हुए थे….जब आर्मी की ट्रेनिंग कर रहा था तो रोज खड़े हो जाते थे…लेकिन एक एक्टर के तौर पर ये हमारे लिए एक सम्मान की बात थी कि ऐसा रोल करने को मिला…
REPORTER- राजी में आप पाकिस्तानी सोल्जर बने थे और अब इसमें इंडियन सोल्जर तो किसी ने बोला नहीं अब आप उन्ही को ठोकने जा रहे हैं ?
VICKY- (हंसते हुए) नहीं वो मुझे मजाक में कहते कि बहुत अच्छा किया कि वहां से इफोर्मेशन ले आए और अब सर्जिकल स्ट्राइक कर दी…लेकिन ऑन सीरियस नोट वो पूरी तरह से दो अलग कहानियां और दो अलग किरदार हैं….

Leave A Reply

Your email address will not be published.