FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

कश्मीर में फिल्में बनीं..अब कश्मीर में फिल्में दिखेंगी भी !

0 604

फिल्मों के शौकीन आपको दुनिया के हर कोने में मिलेंगे और इसमें भारत के जन्नत के निवासी कश्मीरी भी पीछे नहीं है….लेकिन 90 के दशक के शुरूआती दौर में दहशतगर्दी ने जो वहां दस्तक दी… तो उसने वहां की लोगों को अपने शौकों और ख्वाइशों पर पाबंदी लगाने पर मजबूर कर दिया….
कश्मीर के जिले अनंतनाग में एक सिनेमा हॉल हुआ करता था ‘HEAVEN’ जहां आखिरी फिल्म साल 1991 में अमिताभ बच्चन की कालिया लगी थी….इसके बाद बमबारी में ये थियेटर तबाह हो गया था… लेकिन अब तीस साल बाद एक बार फिर ये थियेटर आबाद हुआ और इसका पूरा श्रेय जाता है CRPF की Battalion 40 को….
CRPF की Battalion 40 के कमांडर आशु शुक्ला के मुताबिक, ये एक बेहद की भावात्मक लम्हा था….HEAVEN कश्मीर का पर्यायवाची है जो पिछले तीस सालों से जर्जर हालत में है….उन्होने बताया कि हम स्क्रीन, डोलबी स्पीकर्स, प्रोजेक्टर्स और फिल्म के राइट्स के लिए पिछले साल दिल्ली भी गए थे…जिसके बाद हम ने थियेटर को फिर से वापस बेहतर हालत में लाने की कोशिश की…यहां साल 1991 के अब शाहिद कपूर और श्रद्धा कपूर की बत्ती गुल और मीटर चालू फिल्म लगी है….
थियेटर आर्मी पर्सोनल और आम लोगों के लिए खुला है और इसकी बैठने की क्षमता 525 सीटें है…कमांडर शुक्ला ने बताया कि हमने इस सिनेमा हॉल को रिवाइव करके आर्मी, उनके परिवार और यहां के लोकल युवाओं को एक बेहतर कल्चर देने की कोशिश की है…
वहीं पास में रहनेवाले के एक लोकल निवासी खलील ने कहा कि उन्होने इस थियेटर में बत्ती गुल मीटर चालू और पलटन फिल्म देखी है….और अब इस सिन्मा हॉल को इसी तरह से आगे भी चलते रहना चाहिए…हालांकि मिलिटेंट ऑपरेशन्स और रूटिन एनकाउंटर के चलते यहां रोजाना की जगह हर हफ्ते फिल्म की स्क्रिनिंग होती है….वहीं थियेटर के बाहर लहराता हुआ तिरंगा ‘Reopening of Heaven Cinema hall, Ashajipora, Anantnag. Celebrating 50 years of 40 Battalion 1988-2018’ के मैसेज के साथ लोगों का स्वागत करता है…

Leave A Reply

Your email address will not be published.