FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

सूरज पे मंगल भारी की प्रेम गाथा ‘वारेया’ में नब्बे के दौर का दिखेगा मधुर रोमांस

0 99

90 का दशक एक अनोखा समय था और हम सभी के लिए यादगार है। अपनी फिल्म की जीवंतता को ध्यान में रखते हुए, सूरज पे मंगल भारि के निर्माताओं ने फिल्म का संगीत लॉन्च किया। ब्रीजी रेट्रो गाने और आधुनिक धुनों से भरपूर फिल्म के मिजाज को दर्शाते हैं।

ज़ी स्टूडियो द्वारा निर्मित, अभिषेक शर्मा द्वारा निर्दर्शित इस फिल्म में मनोज बाजपेयी, दिलजीत दोसांझ और फातिमा सना शेख मुख्या भूमिका में है। फिल्म का अब तक का मुख्य आकर्षण बसंती गाना था, लेकिन इस एल्बम में 7 अनूठे ट्रैक शामिल हैं – वारेया, लद्की ड्रामेबाज़ है, सूरज पे मंगल भारी टाइटल ट्रैक, बैड बॉयज़ और दौड़ा दौड़ा। जूक बॉक्स में एक अलग रूप में वारेया गाना का अलग संस्करण उपलब्ध है जो ज़ी म्यूज़िक पर रिलीज़ किया गया है। यह एल्बम किंग्सुक चक्रवर्ती के साथ जावेद-मोहसिन द्वारा रचित किया है।

वारेया जावेद-मोहसिन द्वारा रचित और कुनाल वर्मा द्वारा लिखित यह गाना खुद जावेद-मोहसिन, विभोर पाराशर और पलक मुछाल ने गाया है। यह गीत मोबाइलों और डेटिंग ऐप्स के आगमन से पहले पुराने दौर के रोमांस का उत्सव है। वर्तमान समय में, इंटरनेट के युग में डेटिंग का एक अस्थायी अनुभव है, लेकिन वारेया पुराने दौर के प्यार की याद दिलाएगा। अपने मधुर धुन के कारन, यह गीत निर्माताओं के सबसे करीब है। वीडियो में पुराने समय के कई झलकियां है जैसे पेजर और पब्लिक फोन बूथ पर रोमांस करना, एक मनमोहक फिल्मी अंदाज में दिलजीत का फातिमा को लुभाना!

निर्देशक अभिषेक शर्मा कहते हैं, “गीत का मुख्य आकर्षण यह है कि यह आपको पुराने दिनों की यादों में ले जायेगा, फिल्म की तरह ही, आपको पुराने समय में वापस ले जाता है। ताजा एनर्जी के साथ यह गीत ज़िंदादिली और रोमांच से भरा है। दिलजीत और फातिमा की एक सहज केमिस्ट्री है जो गाने के माध्यम से चमकती है, जो इस गाने को सबसे अलग करती है।”

एल्बम के अन्य गीतों में बसंती शामिल है, जिसे पायल देव और दानिश साबरी ने गया है और दानिश ने लिखा भी हैं। दिव्या कुमार के साथ जावेद-मोहसिन ने दौड़ा दौड़ा गाना गाय है, और मोहसिन द्वारा रैप शामिल है। गाने को साबरी ने लिखा है। दूसरे शानदार नंबर लद्की ड्रामेबाज़ है को मोहसिन, ज्योतिका तांगरी, ऐश्वर्या भंडारी ने गाया है और मेल्लो डी द्वारा रैप हैं और इसकी रचना किंग्सुक चक्रवर्ती ने किया है। सूरज पे मंगल भारी टाइटल ट्रैक जो खुद अभिषेक शर्मा द्वारा लिखा गया है, किंग्सुक चक्रवर्ती और आदित्य पुष्करणा द्वारा रचित और सांज वी और चिन्मयी त्रिपाठी द्वारा गाया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.