FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

शाहरुख की मीर फाउंडेशन ने ‘टूगेधर ट्रांसफॉर्म्ड’ पहल ने एसिड सर्वाइवर्स के लिए पोस्ट-ऑपरेटिव थेरेपी कैंप किया आयोजित!

0 22

6 सितंबर, 2019 को कोलकाता में फोर्टिस हेल्थकेयर के मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान विभाग के सहयोग से इसका आयोजन किया गया!

भारत, कोलकाता: सिंतबर 7, 2019: शाहरुख खान देश के सबसे प्रभावशाली सामाजिक कार्यकर्ताओं में से एक हैं और अपने एनजीओ मीर फाउंडेशन के साथ समाज की बेहतरी और बढ़ोतरी में लगातार योगदान दिया है।

इस वर्ष मार्च 2019 में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर, मीर फ़ाउंडेशन ने एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए ‘टूगेधर ट्रांसफॉर्म्ड’ नामक एक महत्वपूर्ण समग्र पहल की शुरुआत की थी, जिसमें पचास बर्न और एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए सुधारात्मक सर्जरी प्रायोजित की गई थी। मार्च का पूरा महीना इन सर्जरी को आयोजित करने के लिए समर्पित था जिसमें दिल्ली, यूपी, बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड और उत्तराखंड के मरीज शामिल थे तथा महिलाओं और बच्चों की 85% आबादी ने पहल की सुविधाओं का लाभ उठाया।

इस सिंतबर, ‘टूगेधर ट्रांसफॉर्म्ड’ पहल के तहत गतिविधि के अगले चरण में मीर फाउंडेशन ने मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान विभाग, फोर्टिस हेल्थकेयर के साथ सहयोग किया जो पोस्ट-ऑपरेटिव थेरेपी के साथ एसिड अटैक सरवाइव लोगों की मदद करते हुए नज़र आये। यह कैम्प कोलकाता के फोर्टिस अस्पताल किडनी संस्थान में 6 सितंबर को दोपहर 12 से दोपहर 4 बजे तक आयोजित किया गया था।

मीर फ़ाउंडेशन की पहल पर अपने विचार साझा करते हुए, मीर फ़ाउंडेशन के निर्देशक, वेंकी मैसूर ने कहा, “मीर फाउंडेशन द्वारा ‘टूगेधर ट्रांसफॉर्म्ड’ पहल को एक समग्र उपचार दृष्टिकोण की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए शुरू किया गया था जिसका उद्देश्य देश में एसिड अटैक सर्वाइवर्स की मदद करना है। मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान विभाग, फोर्टिस हेल्थकेयर के साथ हमारा सहयोग उसी दिशा में बढ़ाया गया कदम है और हम उपचार प्रक्रिया के सबसे महत्वपूर्ण हिस्से में से एक, ‘पोस्ट-ऑपरेटिव थेरेपी’ का संचालन करने में गर्व महसूस कर रहे हैं। ‘टूगेधर ट्रांसफॉर्म्ड’ पहल के तहत सभी गतिविधियाँ के साथ महिलाओं को उनकी सराहना और प्रेरणा का अनुभव करवाते हुए उन्हें सक्षम, संवर्धित, प्रोत्साहित और सशक्त बनाना है।”

डॉ. एरा दत्ता (मनोचिकित्सक, फोर्टिस अस्पताल और किडनी संस्थान) ने कहा,”आघात से गुजरने वाली महिलाओं की मानसिक स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं को अक्सर मान्यता नहीं दी जाती है, मनोसामाजिक सहायता प्रदान करना उनके स्वास्थ्य और अभिप्राय का अभिन्न अंग है।”

डॉ. समीर पारिख (निर्देशक, मानसिक स्वास्थ्य और व्यवहार विज्ञान विभाग) कहते है,”जीवन के सभी क्षेत्रों में लोगों तक पहुंचना और मानसिक स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करना महत्वपूर्ण है, और हम मीर फाउंडेशन द्वारा इस पहल का समर्थन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

कोलकाता में शुरू होने वाले पहले पोस्ट-ऑपरेटिव थेरेपी कैंप में एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए ग्रुप सेशन थेरेपी का आयोजन किया गया था। कोलकाता के शिविर में 14 सर्वाइवर विभिन्न जिलों से आए थे और चिकित्सा सत्रों का हिस्सा थे, जिनमें से कुछ की सर्जरी मार्च 2019 में ‘टूगेधर ट्रांसफॉर्मेड’ पहल के तहत हुई थी।

हाल ही में इस साल फादर्स डे के मौके पर शाहरुख खान ने मीर फाउंडेशन के लिए वेबसाइट लॉन्च की है क्योंकि फाउंडेशन का नाम उनके पिता मीर ताज मोहम्मद खान के नाम पर रखा गया है। Meerfoundation.org देश भर में महिलाओं को मजबूत बनाने का वादा करते हुए, जानकारी द्वारा संचालित है। पहले भी देश भर के कई अस्पतालों में महिलाओं और बच्चों के इलाज और सर्जरी को प्रायोजित करने के साथ एसिड अटैक पीड़ितों की मदद करने के लिए भी इस पहल ने मदद का हाथ बढ़ाया था। इसके अलावा, मीर फाउंडेशन ने स्वास्थ्य शिविर आयोजित करने, पैरा एथलीटों को व्हीलचेयर दान करने, वंचित महिलाओं और बच्चों की मदद करने और केरल बाढ़ के पीड़ितों के लिए एक उदार राशि दान करने में भी मदद की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.