FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

फ़िल्म “नोटबुक” से ज़हीर इकबाल और उनके छात्रों ने मिलकर 2000 के दशक से बुमरो की यादें की ताज़ा!

0 24

कश्मीरी फ्लेवर को वापस लाते हुए और उसमें एक इनोसेंट आकर्षण को जोड़ते हुए, नोटबुक का तीसरा गीत ‘बुमरो’ आपका दिल जीत लेगा।

ऋतिक रोशन की फ़िल्म मिशन कश्मीर से बुमरो गाने को रिक्रिएट करते हुए, नोटबुक के निर्माताओं ने लोकगीत में एक कंटेम्परेरी टच जोड़ा है। यह गाना कमाल खान ने गाया है और विशाल मिश्रा द्वारा रचित है।

इस गाने में जहीर इकबाल और बच्चों के बीच मासूम और चंचल साझेदारी नज़र आ रही है जो आपका दिल जीत लेगी। झील के बीच स्थित स्कूल में गाने को रीक्रिएट करते हुए, ‘बुमरो’ में कलाकार पेप्पी नंबर पर पैर थिरकाते हुए नज़र आ रहे है।

सोशल मीडिया पर इस गाने को शेयर करते हुए सलमान खान फिल्म्स ने ट्वीट किया,” The fun-filled tunes, that will leave you hooked! 3rd song of #Notebook, #Bumro out now. http://bit.ly/Bumro_Notebook
@BeingSalmanKhan @pranutanbahl @iamzahero @nitinrkakkar @Cine1Studios @muradkhetani @ashwinvarde @VishalMMishra @imKamaalKhan @TSeries @mudassarkhan1 @ItsBhushanKumar”

चूंकि यह फिल्म कश्मीर में स्थापित है, ऐसे में फ़िल्म के निर्माता लोकप्रिय बुमरो गीत को रीक्रिएट करने से खुद को रोक नहीं पाए। इस गाने में बच्चों के साथ जहीर इकबाल हुक स्टेप के साथ रंग जमाते हुए नज़र आ रहे है।

नहीं लगदा और लैला के बाद बुमरो फिल्म का तीसरा गाना है।

कश्मीर की पृष्ठभूमि में स्थापित “नोटबुक” दर्शकों को एक रोमांटिक सफ़र पर ले जाएगी, जिसे देख कर आपके जहन में सवाल उमड़ पड़ेगा कि, क्या आप किसी ऐसे व्यक्ति के साथ प्यार में पड़ सकते हैं जिससे आप कभी मिले नहीं है?

नोटबुक को कश्मीर की खूबसूरत घाटियों में फ़िल्माया गया है, जिसमें दो प्रेमी फिरदौस और कबीर की प्रामाणिक प्रेम कहानी के साथ-साथ बाल कलाकारों की दमदार कास्टिंग देखने मिलेगी जो कहानी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

नितिन कक्कड़ द्वारा निर्देशित यह फ़िल्म सलमान खान, मुराद खेतानी और अश्विन वर्दे द्वारा निर्मित है। फ़िल्म “नोटबुक” 29 मार्च, 2019 को रिलीज होने के लिए तैयार है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.