FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

सवी सिद्धू की अनसुनी कहानी

0 907

बॉलीवुड बाहर से देखने में जितना चकाचौंध से भरा हुआ है…अंदर से उसमें में उतनी ही परतें है…जो एक के बाद एक खुलने पर आपको उस दुनिया की कुछ अलग तरह की सच्चाई से वाकिफ कराती है…स्क्रीन पर चमकते सितारे असल में किस जद्दोजहद से गुजरते हैं आपको और हमको उसका अंदाजा भी नहीं है….और ऐसी ही कुछ हाल इस वक्त सवी सिद्धू का है….

आपने ब्लैक फ्राईडे तो जरूर देखी होगी….अनुराग कश्यप की सबसे उम्दा फिल्मों में से एक….तो अगर वो फिल्म देखी होगी तो आपको कमिश्नर सामरा का किरदार तो याद ही होगा…आपको किरदार तो याद होगा लेकिन उसके निभाने वाले सवी सिद्धू शायद ही आपको याद हो….हालांकि सवी ने बॉलीवुड की कई फिल्मों में बड़े-बड़े सुपरस्टार के साथ कई अहम कैरेक्टर रोल्स निभाए है…लेकिन अब सवी के मौजूदा हालात एकदम बदल चुके हैं….सवी अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए मुंबई की एक सोसाईटी में सिक्यूरिटी गार्ड की नौकरी कर रहे ह

   दरअसल फिल्म कंपेनियन नाम के एक यूट्यूब चैनल ने कुछ दिन पहले अपने चैनल पर एक वीडियो शेयर किया था जिसमें सवी सिद्धू ने अपने संघर्ष के दिनों के बारे में बताया…उन्होंने कहा, ‘मेरे जीवन का सबसे कठिन दौर वह था जब मेरी पत्नी की मौत हो गई….उसके बाद मेरे पिता की भी मौत हो गई और फिर मेरी मां और बाद में सास-ससुर भी चल बसे…मैं अकेला रह गया,  मैं बिल्कुल अकेला हूं.’

हालांकि जब सवी की तंगहाली की खबर फिल्म डायरेक्टर और प्रोड्यूसर अनुराग कश्यप के पास पहुंची…तो उन्होने अपने ट्विटर अकाउंट पर उसको लेकर रिएक्शन दिया….

अनुराग ने 8 थ्रेड के ट्वीट में लिखा कि दुनिया में कई ऐसे कलाकार जिनके पास काम नहीं है….और बतौर कलाकार मैं सवी की इज्जत करता हूं….मैंने उनके साथ तीन बार काम किया है (सवी ने अनुराग के साथ पांच, ब्लैक फ्राईडे और गुलाल में काम किया हुआ है)….अनुराग ने कहा कि सवी ने सम्मान के साथ अपनी जिंदगी जीने का फैसला किया है….उन्होने बेरोजगारी या फिर शराब में डूबने के बजाय एक इज्जतदार नौकरी करने का फैसला किया….

अनुराग ने आगे लिखा कि सवी को अपनी मदद खुद करनी होगी…हां अगर कोई कुछ कर सकता है तो वो ये कि उन्हे कास्टिंग डायरेक्टर्स से मिलवा दे ताकि उन्हे कोई रोल मिल जाए….लेकिन इसके बाद जैसे लाखों लोग काम की तलाश में जाते है वैसे ही सवी को भी जाना होगा…मुझे सवी पर गर्व है….सवी ने खुद को बर्बाद नहीं होने दिया…मैं ऐसे कई राइटर्स को जानता हूं जो हमेशा उधार मांगकर काम चलाते है…कई ऐसे फिल्मकार है जो कई बार खाने के लिए मुझसे पैसे मांगते हैं…अनुराग के मुताबिक चौकीदार एक जॉब है, मैं इसे छोटा या बड़ा नहीं मानता…कम से कम सवी भीख तो नहीं मांग रहा…मैं ये जानता हूं कि चैरिटी से कोई कलाकार या कला जन्म नहीं ले सकती….सवी सिद्धू जैसी ना जाने कितनी कहानियां है…

अनुराग ने अपने ट्वीट में लिखा कि मैंने वेटर की नौकरी की है, नवाज ने वॉचमैन की जॉब की है, मैं एक ऐसे एक्टर को जानता हूं जो सड़कों पर भेलपुरी बेचने का काम करता था…यहां तक कि एक्टर उदय चंद्र को मैंने दर-बदर की ठोकरें खाते देखा है…ये इस दुनिया के कई लोगों की सच्चाई है…ये भविष्य में मेरे आपके किसी के भी साथ हो सकता है….लेकिन ऐसे में किसी एक्टर पर तरस खाकर उसे काम देना उसे जलील करने जैसा है…

हालांकि सवी की कहानी सामने आने पर राजकुमार राव उनके सपोर्ट में आगे आए हैं….राजकुमार ने अपने ट्विटर पर लिखा कि आपकी कहानी से काफी प्रेरणा मिली सावी सिद्धू सर, आपके काम को सभी फिल्मों में काफी सराहा गया है, आपकी सकारात्मकता सलाम करने वाली है, मैं जरुर अपने कास्टिंग मित्रों से कहूंगा कि आपसे मिले’

आपको बता दें कि सवी सिद्धू का असल नाम त्रिलोचन सिंह सिद्धू है और उन्होने लखनऊ से स्कूलिंग की और बाद में चंडीगढ़ चले गए….जब वो ग्रेजुएशन कर रहे थे, तभी से उनको मॉडलिंग के ऑफर आने शुरू हो गए थे….जिसके बाद उन्होने वापस लखनऊ आकर लॉ कंपलीट किया, इस दौरान वो थियेटर भी करने में लगे…सवी ने कहा, मुझे बचपन से ही एक्टिंग का कीड़ा था…मैं अमिताभ बच्चन और धर्मेंद्र जैसे कपड़े पहनता, उनके जैसे बोलने की कोशिश करता….लेकिन फिर लोगों ने समझाया कि डुप्लीकेट मत बनो, खुद को बनाओ…जिसके बाद उन्होने अपना स्किल और उभारा…

सवी ने बताया कि काम की कभी कोई दिक्कत नहीं हुई….एक वक्त तो ऐसा आ गया था कि इतने काम आ जाते कि मुझे ही छोड़ना पड़ता….फिर तबियत खराब रहने लगी तो सोचा कि ब्रेक लूं और फिर आराम से लौटकर काम करना शुरू करूं…लेकिन उस दौरान फाइनेंशियल दिक्कतें भी बढ़ गईं और सेहत भी खराब रहने लगी…और इसके बाद और भी बुरा दौरा आया और मेरे परिवार के सभी लोग एक एक करके मुझे छोड़कर चले गए…उन्होंने कहा कि मैं वापस फिल्में करना चाहता हूं, लेकिन अभी मेरी हालात अच्छी नहीं है….डायरेक्टर-प्रोड्यूसर्स से मिलने के लिए भी मेरे पास पैसे नहीं हैं….

सवी अभी सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते हैं…इनकी 12 घंटे की शिफ्ट होती है… सवी अभी पैसे जमा कर रहे हैं…कहते हैं कुछ पैसे जमा कर लूं फिर डायरेक्टर, प्रोड्यूसरों से मिलूंगा….उम्मीद है कि काम मिल जाएगा, पहले भी पॉजिटिव रिस्पोन्स मिला है, तो काम देने से कोई मना नहीं करेगा….

Leave A Reply

Your email address will not be published.