FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

कंगना डायरेक्टर का क्रेडिट लेकर सुकून से सो कैसे सकतीं हैं ? – मणिकर्णिका के डायरेक्टर कृष का कंगना पर हमला

1 382

        कंगना रनौत की मचअवेटेड फिल्म मर्णिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी रिलीज हो चुकी है…और फिल्म को दर्शकों का भरपूर प्यार भी मिल रहा है…हालांकि फिल्म से जुड़े विवाद भी लगातार हैडलाइन्स बन रहे हैं…ताजा विवाद के बारे में विस्तार से छपी एक रिपोर्ट का ब्यौरा पेश कर रहीं हैं हमारी सीनियर राइटर प्राची उपाध्याय…

          मणिकर्णिका रिलीज हो चुकी है…हालांकि थियेटर पहुंचने से पहले फिल्म ने कई तरह के रूकावटों को पार किया और विवादों को झेला… और अब इन विवादों को लेकर फिल्म के को-डायरेक्टर क्रृष ने फाइनली अपनी चुप्पी तोड़ी है…क्रृष पहले इस पूरे प्रोजेक्ट को अकेले डायरेक्ट करनेवाले थे…हालांकि बाद में कंगना भी फिल्म के निर्देशन में शामिल हो गई…जिसके बाद फिल्म को लेकर हुई काफी तरह की दिक्कतें टैबलॉयड की हैडलाइन्स बनी…

     एंटरटेनमेंट पोर्टल स्पॉटबॉय को दिए अपने इंटरव्यू में क्रृष ने बताया कि दिक्कतें फिल्म के पोस्ट प्रोडक्शन के वक्त शुरू हुई, जब कंगना अपनी दूसरी फिल्म ‘Mental Hai Kya’ की शूटिंग के लिए लंदन गई हुई थी…जब वो वापस आई तो उन्होने फिल्म में दूसरे एक्टरों को खुद के किरदार पर हावी होने की चिंता जताई…क्रृष ने बताया कि उन्होने फिल्म का पूरा एडिट जून में ही खत्म कर लिया था…इतना ही नहीं फिल्म की सारी रिल्स भी पूरी कर ली गई थी और उन्हे साउंड रिकॉर्डिंग के लिए भेजा जा चुका था…कंगना उस वक्त लंदन में थी तो उनको छोड़कर सभी एक्टरों ने डब भी कर लिया था…

      क्रृष के मुताबिक वापस आने पर कंगना ने कहा कि उनको कुछ छोटी-मोटी दिक्कतें है…फिर कुछ दिनों बाद कंगना ने कहा कि इसका ज्यादा है, उसका ज्यादा है…ये लड़की हावी हो रही, वो लड़की हावी हो रही…फिर वो बोलने लगी कि ये चैंज करना होगा, वो चैंज करना होगा…कंगना ने यहां तक कहा कि प्रोड्यूसर कमल जैन को फिल्म पसंद नहीं आई…यहां तक कि डायरेक्टर के तौर पर मैं सोनू सूद के किरदार की बात से पहले तक कुछ चैंजेस के लिए मान भी गया था….

   क्रृष ने कहा कि मैं चैंजेस के लिए मान गया था…और हम में एडिशनल 6 दिन की शूटिंग करने की बात तय हुई…हालांकि इन 6 दिनों में कंगना की कोई जरूरत नहीं थी…लेकिन वो अचानक से आ गई और बोलने लगी कि इंटरवल के वक्त सोनू सूद के किरदार को मार दिया जाए…और ये हिस्ट्री के बिलकुल एगेंस्ट था…सोनू एक महत्वपूर्ण  प्रतिद्वंदी की भूमिका निभा रहे थे, उनका कहानी में एक बेहद सुंदर हिस्सा था…हमने सोनू के साथ 35 दिनों तक शूटिंग की थी…कहानी के मुताबिक फिल्म में सदाशिव (सोनू का किरदार) की मृत्यु होती है लेकिन लक्ष्मीबाई की मृत्यु से कुछ ही वक्त पहले ही…

      क्रृष ने कहा कि उसके बाद वो अपनी अगली फिल्म ‘NTR Biopic’ के लिए हैदराबाद आ गए…जिसके बाद उनके पास फोन आया कि फिल्म की रि-रिकॉर्डिंग की जा रही है, इतना ही नहीं फिल्म का एडिटर को भी चैंज कर दिया गया है…जिस एडिटर ने उसके साथ काम किया था उसे छोड़ने के लिए कह दिया गया…फिर कुछ दिन बाद मेरे  पास सोनू का फोन आया ये पूछने के लिए कि क्या मैं आगे की फिल्म डायरेक्ट कर रहा हूं…मैं प्रोड्यूसर कमल जैन से मिलने मुंबई पहुंचा, मीटिंग में कंगना भी मौजूद थी…कंगना ने कहा कि चैंजेस काफी छोटे है और वो मैनेज कर लेंगी…जिसके बाद मैं वापस हैदराबाद आ गया..जहां मेरे पास सोनू का फोन आया कि उनके किरदार को इंटरवल में ही खत्म कर दिया जा रहा है…मैंने उनको बताया कि ये सब चैंजेस को मैं डायरेक्ट नहीं कर रहा, कमल जैन ने कहा कि वो कंगना डायरेक्ट करेंगी…जिसके बाद सोनू कहा कि अगर मैं मामले को आगे नहीं ले जा रहा तो वो भी इसे आगे नहीं ले जाएंगे…

      क्रृष ने सोनू के लिए स्टैंड लेते हुए कहा कि, मैं सोनू को दोषी नहीं ठहरा सकता….फिल्म में उनका रन टाइम 100 मिनट था और उसे 60 मिनट तक काटा गया, तो कौन इस बात से सहमत होता, कोई भी नहीं…

       इतना ही नहीं क्रृष ने भी बताया कि उनको प्रोजेक्ट का केवल 30 पर्सेंट ही पे किया गया है….और बेवजह रि-शॉट्स के कारण बजट काफी बढ़ गया है…जब उनसे क्रेडिट के बारे में पूछा गया तो क्रृष ने कहा कि मुझे समझ नहीं आता कि कंगना पहले स्थान डायरेक्शन का क्रेडिट लेकर रात में सूकुन से सो कैसे सकती है ?….जब कि वो इसे डिर्जव तक नहीं करती… 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

1 Comment
  1. Avinash Ghodke says

    So much negativity to handle