FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

Interview Kiara Advani : ‘मेरे लिए कभी कोई प्लान-B नहीं था’

Kiara Advani कबीर सिंह में शाहिद कपूर के साथ नजर आने वाली हैं…फिल्म के सिलसिले में उनसे खास बातचीत की हमारे संवाददाता शौनक जैन ने..

0 447

रिपोर्टर -Kiara इस साल आप की  लगातार 4 फिल्में आने वालीं है.. तो बढ़िया समय है आपका.. क्या कहना चाहेंगी इस पर?

कियारा- मैं बहुत एक्साइटेड हूँ क्योंकि अभी फाइनली मुझे ऐसे मौके मिल रहें हैं। इस साल दो फिल्में रिलीज हो रहीं हैं, पहली तो कबीर सिंह और फिर दिसम्बर में गुड न्यूज़। बहुत अच्छा लग रहा है मैं लगातार सिर्फ काम कर रही हूँ। कभी कभी मम्मी मेरे मैनेजर को फ़ोन करके पूछती है की क्या इसके पास डेट्स है? हम हॉलिडे प्लान कर रहे हैं और मेरे मैनेजर उनको कहते हैं कि मुझे माफ करिए पर अभी समय नहीं है। तो हाँ,  बहुत अच्छा महसूस होता है और हम बहुत हंसते हैं इस बारे में की मां आप मेरे मैनेजर को फ़ोन कर रही हैं जबकि मैं खुद घर पर हूँ। मैं पूरी कोशिश करती हूँ कि उनके साथ ज़्यादा से ज़्यादा समय बिता सकूं मगर मुझे इतनी अच्छी स्क्रिप्ट्स पर काम करने का मौका मिल रहा है कि समय बहुत कम मिलता है।

रिपोर्टर –कियारा आप और ईशा अम्बानी स्कूल में साथ में थे?

कियारा- जी हाँ, हम किंडरगार्डन से साथ में थे और वो मेरी पहली दोस्तों में से एक है। बहुत खुशी है मुझे उनकी शादी हुई अभी। एक एक कर मेरे सारे दोस्तों की शादियां हो रही है।

रिपोर्टर-आपके कुछ शादी के प्लान्स हैं या नहीं?

कियारा- मैं तो काम कर रही हूँ। फिल्में कर रही हूँ और मैं सोचती हूँ कि जो वजह होनी चाहिए शादी करने के लिए वो प्यार होना चाहिए और शादी एक ही बार होगी और उसके लिए वो सही इंसान मिलना ज़रूरी है और मैं अभी तक ऐसे किसी से नहीं मिली

रिपोर्टर –हमने जब शाहिद से बात की तब उन्होंने कहा कि आप का किरदार जो है वो पूरी कहानी का सहारा है। बहुत महत्वपूर्ण किरदार है तो इसके बारे में कुछ बताइये?

कियारा- (हंसते हुए)..वो ऐसा कहकर बहुत दबाव डाल रहे हैं मुझ पर। ऐसे किरदार को निभाना आसान था जो इतना शांत और शाय है और कबीर का किरदार है जो बहुत वोकल है और उसमे लेयर्स हैं। प्रीति सिंपल और शांत है और कबीर को अगर किसी भी चीज़ से शांति मिलेगी तो तब जब वो प्रीति के साथ है। तो कियारा और प्रीति दो अलग लोग हैं आप देख ही रहे हैं कि मैं कितनी अनिलिमिटेड और कैसे बात कर रही हूँ और मेरा पारिवारिक माहौल भी खुला रहा है, मैं जैसे अपनी मां के साथ कोई भी बात मर सकती हूँ मगर प्रीति जो है वो एक ऑर्थोडॉक्स परिवार से आती है तो तभी बात करेगी जब उनसे कोई बात करेगा। वो सेंसिटिव है तो वो सब चीज़े आपने अंदर लाना और वो ठहराव दिखाना और प्रीति को आपने अंदर लाना काफी चैलेंजिंग था। जब डायलॉग्स हों तब कुछ दिखाना आसन होता है मगर बिना डॉयलोग्स के कुछ दिखाना काफी मुश्किल होता है ..तब सब अंदर से आता है। मैं बस शाहिद और आपने डायरेक्टर के साथ बैठी और हम सबने करैक्टर में घुसने की कोशिश की और बहुत डिसकस किया। मैने प्रीति बनने पर पूरी मेहनत की क्योंकि कियारा और प्रीति अलग सोचते हैं और मैं पूरी तरह प्रीति बन गई ऐसा मेरा मानना है।  सच कहुं तो हमने करीब एक महीना दिल्ली में शूट किया और मैं प्रीति में इतना घुस गयी कि बाहर निकलना मुश्किल था मेरे लिए बहुत वक्त तक।

रिपोर्टर –अगर आपको अपनी पर्सनल लाइफ में कोई कबीर जैसा प्यार करने वाला और गुस्से वाला मिल जाए तो क्या रिएक्शन होगा?

कियारा- बहुत प्यार करने वाला मिले यही तो हम सब चाहते हैं और गुस्सा तो होपफुल्ली हम उसेपने कंट्रोल में ला सकते हैं। लेकिन खुद को हानि पहुंचाना बहुत अजीब है और मैं दुआ करती हूँ कि कोई कभी ऐसा नहीं करे। लव सेल्फलेसली। हर किसी का दिल कभी कभी टूटा है और हम सभी इस दौर से गुज़रे हैं मगर अहम बात ये है कि हम खुद को आइसोलेट करें और बात करें इस बारे में किसी किसी से। और बात रही मेरे ऐसे किसी को स्वीकार करने की वो तो इसपर निर्भर करता है कि कितना प्यार है और क्या वो टॉक्सिक है मेरे लिए या नही। अगर टॉक्सिक नही है तो ज़रूर।

रिपोर्टर –आपको गुस्सा कब कब आता है?

कियारा- मुझे सिर्फ तभी गुस्सा आता है जब मुझे समय से खाना नहीं मिलता है। हाँएंग्रीकहते है उसे और में 2 सेकेंड में शांत भी हो जाती हूँ। मेरे पापा कहते हैं जब भी मैं गुस्सा होती हूँ कि कोई इसे खाना खिला दो( जोर से हंसते हुए)

रिपोर्टर  –कियारा सोशल मीडिया पर जब अफवाहें आती हैं और जब आपके बारे में गलत खबरें फैलती हैं तो आप कैसे लेती हैं उन्हें? जैसे बीचे में आपके और शाहिद के लिंकअप की अफवाह आयी थी।

कियारा- मेरे और शाहिद के लिंकअप्स की अफवाह! ये तो मैं पहली बार अब सुन रही हूँ। ब्रेकिंग न्यूज है मेरे लिए। मैं उन सभी को इग्नोर करती हूँ। मैं बिल्कुल ध्यान नही देती हूँ उनपर और अगर मैं सचमुच प्यार में होउंगी ना, तो आप सबसे पहले मुझसे सुनेंगे ये बात। ऐसी डम्ब कहनियां मत बनाइए।

रिपोर्टर –सेट पर कैसा रहा शाहिद के साथ अनुभव? क्या नोंक झोंक हुआ करती थी?

कियारा- वो ना सेट पर बच्चे जैसे रहते हैं। उन्हें बिल्कुल ग़ुरूर नही है की मैं स्टार हूं और मुझे इतना एक्सपीरियंस है। वो हर शॉट के बाद मुझे पूछेंगे कि क्या अच्छा था शॉट? तुम्हारा क्या खयाल है? क्या हुआ? बहुत आसान है उनके साथ काम करना। मुझे कभी ऐसा नहीं लगा कि मैं शाहिद कपूर के साथ काम कर रही हूँ, मुझे ऐसा लगा कि बस मैं कबीर सिंह के साथ ही काम कर रही हूँ।

रिपोर्टर –कियारा ये जो रोल है आपके पास आया है, ये बहुत घूम फिर के आया है। तो क्या कहानी है इस पूरे चक्कर की?

कियारा- ये तो शायद सिर्फ संदीप सर( फिल्म के डायरेक्टर)  ही बता सकते हैं। मुझे लगता है कि मेरी किस्मत में कही कहीं लिखा था ये रोल करना तो मिल गया0। मैने एक बार संदीप सर से पूछा था और उन्होंने कहा भी की ऐसा इसलिए क्योंकि मुझे तुममे प्रीति दिखती है।

रिपोर्टर –लक्ष्मी की शूटिंग कब से शुरू हो रही है और अक्षय सर के साथ काम करना कैसा रहा है?

कियारा- हमने अभी एक शेड्यूल खत्म किया है और दूसरा हम अभी शुरू करने वाले हैं। अक्षय सर मुझे इंडस्ट्री में लेकर आए हैं तो मेरे लिए तो फुल सर्किल हो गया है।। मुझे बहुत कुछ सीखने को मिल रहा है और बहुत मज़ा  रहा है।

रिपोर्टर-कियारा इतनी बड़ी बड़ी फिल्में रहीं है इस साल.. तो क्या आपको कभी कोई प्रेशर फील होता है?

कियारा- अब तक तो नहीं था पर अब आपने बोल दिया तो लग रहा है। मुझे लगता है रिलीज के पहले वो सब लगता है मगर डेस्टिनेशन से ज़्यादा मैं सफर के मज़े ले रहीं हूँ इस वक्त। मेरा ध्यान इसी बात पर रहता है कि मैं हर पल पूरी तरह से और अच्छे से जी लूं क्योंकि फ्राइडे को क्या होता है वो तो हमारे हाथ में नहीं है ना।

रिपोर्टर –आपको लस्ट स्टोरीज के बाद बहुत प्रशंसा मिली तो क्या आपको लगता है की धर्मा प्रोडूक्शन के साथ आपका काम करना आपके लिए लकी था?

कियारा- हाँ, मुझे लगता है कि लस्ट स्टोरीज मेरे कैरियर का एक टर्निंग पॉइंट थी।क्योंकि वो रोल ही ऐसा था की मुझे परफॉरमेंस करने कीचुनौती मिली और लोगो ने देखा की मैं एक्ट कर सकती हूँ। धोनी भी हां, उसमे भी अच्छा मौका मिला मुझे। तो मुझे लगता है की जब तक आपको अच्छे मौके मिलें तब तक आप कैसे अपनी कला को दिखा सकेंगे? कैसे लोगों को पता चलेगा? तो मैं लकी हूँ की करण सर ने मुझे वो मौका दिया, एक आउटसाइडर को मौका दिया और वो टर्निंग पॉइंट था.

रिपोर्टर –आजकल बहुत सी एक्ट्रेसेस है जिनके पास उनके बैकअप्स तैयार हैं। फ़िल्म उनके लिए सब कुछ नही है। तो आपका क्या खयाल है इस पर?

कियारा- तो 2014 में मेने डेब्यू किया था फगली के साथ। वो फ़िल्म नही चली और उसके बाद मुझे उतने रोल्स और मौके नही मिले। एक समय आया जब मुझे लगा कि क्या मैं कभी और फिल्मे करूँगी भी या नही लेकिन मैं लकी थी कि तभी मेरे माता पिता मेरे साथ थे और उन्होंने मुझे सपोर्ट किया और एक बात ये थी कि मुझे खुद पर विश्वास था की मुझे एक्टिंग आती है और मैं कर सकती हूँ और बस एक मौका चाहिए मुझे। तो मेरे पेरेंट्स ने कहा की तुम जाओ क्लासेस जाओ और वो सब करो जो तुम पहले कर रहीं थीं।पने आपको बेहतर बनाने पर काम करो। तो मैने खूब मेहनत की और फिर जब धोनी मिली मुझे तो मेरा पहला मौका मिला उसके बाद लस्ट स्टोरीज हुई। मेरे लिए ये है कि अगर आप किसी चीज़ को तहे दिल से चाहते हैं तो कभी उस पर गिव मत करना, मेहनत करते रहना। कब मौका मिले किसे पता। पर सभी कापना नज़रिया होता है और मेरे लिए कभी कोई ऐसा प्लान बी नही था। बचपन से मुझे एक्टर बनना था और डिग्री भी मैने सिर्फ मम्मी पापा के लिए की।

Leave A Reply

Your email address will not be published.