FilmCity World
सिनेमा की सोच और उसका सच

“आर्टिकल15” की रिलीज से पहले, आयुष्मान खुराना और अनुभव सिन्हा को मिल रही है धमकियां!

0 458

 

पिछले महीने हुए ट्रेलर लॉन्चके बाद से, आयुष्मान खुराना अभिनीत “आर्टिकल 15” ने दर्शकों के बीच उत्सुकता बढ़ा दी है। सच्ची घटनाओं से प्रेरित, अनुभव सिन्हा द्वारा निर्देशित यह फ़िल्म अब विवादों में घिरी हुई नज़र आ रही हैं।

निर्माताओं पर ब्राह्मणों को नकारमक तरीके से चित्रित करने का आरोप लगाया गया है। ऐसा कहा जा रहा है कि फ़िल्म की कहानी 2014 बदायूँ (उत्तर प्रदेश) बलात्कार के मामले से प्रेरित है जिसमें दो किशोर लड़कियों को एक पेड़ से लटका पाया गया था जिसने देशभर में सुर्खियों का ध्यान अपनी तरफ़ आकर्षित कर लिया था।इसमे आयुष्मान खुराना द्वारा अभिनीत पुलिस अधिकारी के किरदार को जाति सिस्टम में उलझा हुआ दिखाया गया है।

जबकि एक ब्राह्मण संगठन परशुराम सेना ने कथित तौर पर अपनी नाराजगी व्यक्त की है और आरोप लगाया है कि यह फिल्म समुदाय को बदनाम करने की कोशिश कर रही है। इतना ही नहीं, अनुभव सिन्हा और आयुष्मान खुराना को सोशल मीडिया पर धमकियां भी मिल रही हैं।

इसके अलावा, एक मल्टीप्लेक्स चेन की माने तो आर्टिकल 15 की स्क्रीनिंग के खिलाफ विरोध करने के लिए ब्राह्मण समूह और करणी सेना मल्टीप्लेक्स के बाहर इकट्ठा होने की योजना बना रहे है। इसलिए सावधानी बरतते हुए, सिनेमा मालिक इन खतरों के मद्देनजर अतिरिक्त सुरक्षा में मदद के लिए स्थानीय पुलिस स्टेशन पहुंच रहे है।

अनुभव सिन्हा अपनी पिछली फिल्म “मुल्क” और आगामी फिल्म “आर्टिकल 15” के माध्यम से समाज में संवेदनशील विषयों को संबोधित कर रहे हैं। चूंकि यह फ़िल्म अब जल्द ही सिनेमाघरों में रिलीज के लिए तैयार है, इसलिए उन्हें समाज के विभिन्न क्षेत्रों से, विशेषकर ऊपरी वर्ग से धमकी भरे ईमेल और कॉल आ रहे हैं।

“आर्टिकल 15 एक ऐसी फिल्म है, जो प्रत्येक व्यक्ति द्वारा समाज में बदलाव लाने की मांग करती है और सभी से इसकी हार्ड-हिटिंग लाइन, ‘अब फ़र्क लाएंगे’ के साथ एक्शन लेने के लिए कहा है!

फिल्म ‘आर्टिकल 15’ लंदन इंडियन फिल्म फेस्टिवल के दसवें संस्करण में वर्ल्ड प्रीमियर के लिए तैयार है। लंदन इंडियन फिल्म फेस्टिवल दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा त्योहार माना जाता है और यह इन्वेस्टिगेटिव ड्रामा ओपनिंग नाइट फिल्म होगी

Leave A Reply

Your email address will not be published.